Beti Shayari


<p>वो पीर

वो पीर परायी क्या जाने जिनको नहीं है बेटियां
जिस माँ ने विदा की है बेटियां
पूछो उस माँ से कि क्या होती है बेटियां!!

<p>मैं खु

मैं खुद पर गुरूर क्यों न करू,
मेरी माँ जो कहती हैं कि,
बेटी तू हज़ारो में नहीं बल्कि दुनिया में एक हैं।

<p>मेंहद

मेंहदी कुमकुम रोली का त्यौहार नहीं होता
रक्षाबन्धन के चन्दन का प्यार नहीं होता
उसका आंगन एकदम, सूना सूना रहता है,
जिसके घर में बेटी का अवतार नहीं होता।

<p>बेटा अ

बेटा अंश हैं तो बेटी वंश हैं,
बेटा आन हैं तो बेटी शान हैं।
 

<p>जरूरी

जरूरी नहीं रौशनी चिरागों से ही हो
बेटियाँ भी घर में उजाला करती हैं!!
 

<p>मम्मी

मम्मी का हाथ बटाती
पापा का नाम कराती
कितनी मुश्किलें क्यू ना हो
सबको हंसके गले लगाती!!

<p>बेटे भ

बेटे भाग्य से होते हैं
पर बेटियाँ सौभाग्य से होती हैं!!

<p>लाख गु

लाख गुलाब लगा लो तुम अपने आँगन में
जीवन में खुशबू तो बेटी के आने से ही होगी!!
 

<p>बेटी ब

बेटी बचाओ और जीवन सजाओ,
बेटी पढ़ाओ और ख़ुशहाली बढ़ाओ!!

<p>एक मीठ

एक मीठी सी मुस्कान हैं बेटी,
यह सच है कि मेहमान हैं बेटी,
उस घर की पहचान बनने चली
जिस घर से अनजान हैं बेटी!!

<p>जिस घर

जिस घर मे होती है बेटियां

रौशनी हरपल रहती है वहां

हरदम सुख ही बरसे उस घर

मुस्कान बिखेरे बेटियां जहाँ!!

<p>बेटी भ

बेटी भार नहीं, है आधार जीवन है उसका अधिकार
शिक्षा है उसका हथियार, बढ़ाओ कदम करो स्वीकार।


Best Hindi Shayari, Latest Romantic Love Shayari Status, New Sad Shayari, Hindi Funny SMS, Shayari in Hindi

© 2021 All Rights Reserved. Shayarihub.me